Full Form: Initial Public Offering (IPO)

शेयर बाजार और निवेश से जुड़े तमाम ऐसे टॉपिक्स हैं जिनसे ज्यादातर लोग अनजान हैं। अधिकतर लोग सामान्य बैंकिंग और बीमा के बारे में अच्छी जानकारी रखते हैं लेकिन निवेश के संबंध में ज्यादा जानकारी नहीं होती है। जैसे कि म्यूचुअल फंड, बान्ड्स, IPO आदि ऐसे शब्द हैं जिनके बारे में आप सभी सुनते जरूर हैं लेकिन ज्यादा जानकारी नहीं रखते हैं।
इन्ही में से एक टर्म है IPO, जब कंपनियां अपने लिए बडी मात्रा में पूंजी (Capital) जुटाने के लिए जिन तरीकों का इस्तेमाल करती हैं, उनमें से एक तरीका होता है IPO लाने का।

इस लेख में आप सभी जानेंगे कि :
– IPO क्या है?
– IPO में निवेश कैसे करें?
– IPO से लाभ

– IPO क्या है?
IPO, वह प्रक्रिया होती है, जब कोई कंपनी पहली बार अपने शेयरों को पब्लिक या सामान्य जनता के सामने खरीदने के लिए पेश करती है। इसीलिए इसे प्रारंभिक सार्वजनिक प्रस्ताव (Initial Public Offering) कहा जाता है। यह एक नई, युवा कंपनी या एक पुरानी कंपनी हो सकती है जो शेयर मार्केट में लिस्टेड होने का फैसला करती है। कंपनियां जनता को नए शेयर जारी करके IPO की मदद से इक्विटी कैपिटल जुटा सकती हैं या मौजूदा शेयरधारक (shareholders) बिना किसी नई पूंजी (Fresh Capital) जुटाए जनता को अपने शेयर बेच सकते हैं।

सामान्यत: प्राइवेट कंपनियां या कॉर्पोरेशन, अपने लिए बडी मात्रा में पूंजी जुटाने के लिए आईपीओ पेश करती हैं। कभी-कभी सरकारी कंपनियां भी विनिवेश (disinvestment) के माध्यम से पूंजी जुटाने के लिए अपने आईपीओ लाती हैं। विनिवेश की प्रक्रिया में, शेयर बाजार के माध्यम से किसी सरकारी कंपनी में कुछ हिस्सेदारी लोगों को बेची जाती हैं।

जनता को अपने शेयर्स की पेशकश (offering) करने वाली कंपनी पब्लिक निवेशकों को पूंजी (Capital) चुकाने के लिए बाध्य नहीं है।

– IPO में निवेश कैसे करें?
जब भी आप किसी भी कंपनी का IPO खरीदने के लिए सोचे या तय करें तो सबसे पहले कोशिश करें कि किसी अच्छे जानकार (जिसे IPO की अच्छी जानकारी हो) के साथ मिलकर कंपनी का चयन करें। जो कंपनीं चुन रहे हैं उससे तीन-चार अन्य कंपनियों की भी तुलना करें। कुछ दिन तक इन सभी कंपनियों की प्रगति को देखने के बाद ही निवेश करें। रेटिंग एजेंसी की राय भी बहुत मायने रखती है। कंपनी के IPO की कीमत भी देखें, बाजार में कंपनी के प्रमोटर की साख देखें और दूसरे निवेशकों से कंपनी के IPO को लेकर जानकारी लेते रहें।

वैसे तो IPO को एक जोखिम भरा निवेश माना गया है, क्योंकि इसमें कंपनी की शेयरों के प्रगति के संबंध में कोई आंकड़े या जानकारी लोगों के पास नहीं होती है, फिर भी जो व्यक्ति पहली बार शेयर बाजार में निवेश करता है उसके लिए आईपीओ एक बेहतर विकल्प है। अगर आपको शेयर बाजार में भविष्य बनाना है तो आपको IPO की जानकारी होनी ही चाहिए।

– IPO से लाभ
IPO में निवेशक तरफ से लगाई गई पूंजी (Capital) सीधे कंपनी के पास जाती है। हालांकि विनिवेश (disinvestment) के मामले में आईपीओ से जो पूंजी (Capital) मिलती है वह सीधे सरकार के पास जाती है। यदि एक बार इनके शेयरों की ट्रेडिंग की इजाजत मिल जाए तो फिर इन्हें खरीदा और बेचा जा सकता है, पर एक बात जरूर याद रखें शेयर को खरीदने और बेचने से होने वाले लाभ और हानि की जिम्मेदारी निवेशक की होती है।

Leave a Comment